Tuesday, 12 November, 2019

POLITICAL SCIENCE NOTES-भारत के राष्ट्रीय चिन्ह 

POLITICAL SCIENCE NOTES-भारत के राष्ट्रीय चिन्ह 




 

  • राष्ट्रीय प्रतीक (National Symbol) : भारत का राष्ट्रीय प्रतीक सारनाथ स्थित अशोक के सिंह स्तम्भ के शीर्ष भाग की अनुकृति है। भारत सरकार ने इसे 26 जनवरी, 1950 ई. को अपनाया। प्रतीक के नीचे मुंडकोपनिषद् में लिखा सूत्र “सत्यमेव जयते’ देवनागरी लिपि में अंकित है। शासकीय कार्यों में प्रयोग में लाये जाने वाले राष्ट्रीय प्रतीक अलग-अलग रंग के होते हैं। नीला राष्ट्रीय प्रतीक लोक सभा के सदस्यों के द्वारा उपयोग में लाया जाता है। 
  • राष्ट्रीय ध्वज (National Flag) : तीन पट्टियों वाला तिरंगा, गहरा केसरिया (ऊपर), सफेद (बीच) और गहरा हरा रंग (सबसे नीचे) है। सफेद पट्टी के बीच में नीले रंग का चक्र है जिसमें 24 तीलियां हैं तथा इसे  सिंह स्तम्भ पर बने चक्र से लिया गया हैध्वज की लम्बाई एवं चौड़ाई का अनुपात 3 : 2 हैभारत के संविधान सभा ने राष्ट्र ध्वज का प्रारूप 22 जुलाई, 1947 . को अपनायाराष्ट्रीय ध्वज का केसरिया रंग जागृति, शौर्य तथा त्याग का, सफेद रंग सत्य एवं पवित्रता का एवं हरा रंग जीवन समृद्धि का प्रतीक है। 



  • राष्ट्र गान (National Anthem) : रवीन्द्रनाथ ठाकुर द्वारा रचित ‘जन-गण-मन’ को संविधान सभा ने 24 जनवरी, 1950 ई. को भारत का ‘राष्ट्र गान’ स्वीकार किया। इसके गायन का समय 52 सेकण्ड है तथा संक्षिप्त अवधि 20 सेकण्ड है जिसमें इसकी प्रथम और अंतिम पंक्तियां गायी जाती है। यह सर्वप्रथम 27 दिसम्बर, 1911 को भारतीय कांग्रेस के कोलकत्ता अधिवेशन (अध्यक्ष-पं. विशन नारायण दत्त) में गाया गया। इसे रवीन्द्रनाथ ठाकुर ने 1912 ई. में ‘तत्त्व बोधिनी’ में ‘भारत भाग्य विधाता’ शीर्षक से प्रकाशित किया था तथा 1919 में ‘Morning Song of India’ के नाम से अंग्रेजी अनुवाद किया। राष्ट्रगान के वर्तमान संगीतमय धुन को बनाने का श्रेय कैप्टन रामसिंह ठाकर INA के सिपाही को जाता है। सर्वप्रथम इसे 27 दिसम्बर, 19 को कांग्रेस के कोलकाता अधि वेशन में गाया गया था। 
  • राष्ट्र गीत (National Song) : बंकिमचन्द्र चटर्जी के उपन्यास ‘आनन्दमठ’ में उन्हीं के द्वारा रचित ‘वन्दे मातरम्’ को राष्ट्र गीत के रूप में 26 जनवरी, 1950 . को स्वीकार किया गयाइसे सर्वप्रथम 1896 . में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अधिवेशन (अध्यक्ष-रहीमतुल्ला सयानी) में गाया गया था। इस गीत को गाने का समय 1 मिनट और पांच सेकण्ड हैकिसी भी व्यक्ति को राष्ट्रगीत गाने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता है। 
  • राष्ट्रीय कैलेन्डर : अंग्रेजी ग्रिगेरियन कैलेन्डर के साथ देश भर के लिए शक संवत् पर आधारित राष्ट्रीय पंचाग को सरकारी प्रयोग के लिए 22 मार्च, 1957 . को अपनाया गयाइसका पहला महीना चैत्र हैयह सामान्यतः सामान्य वर्ष में 21 मार्च को एवं लीप वर्ष में 22 मार्च को प्रारंभ होता है। 

click here for pdf

भारतीय संविधान का निर्माण एवं स्रोत 



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Please wait...

Subscribe to our newsletter

Fast Update Please Subscribe Here
error: Content is protected !!