Wednesday, 26 February, 2020

Ctet pedagogy notes-mptet child development notes in pdf

ctet-pedagogy-notes

Ctet pedagogy notes-mptet child development notes in pdf

 



 

  • “मनोविज्ञान व्यक्ति के व्यवहार (Ctet pedagogy notes) एवं आचरण का यथार्थ विज्ञान है।” कथन है -मैक्डूगल का
  • मनोविज्ञान का तात्पर्य है—व्यवहार का विज्ञान
  • शिक्षा मनोविज्ञान में अध्ययन किया जाता है— मानव व्यवहार की शैक्षणिक परिस्थितियों का
  • मनोविज्ञान का शाब्दिक अर्थ है  -मन का विज्ञान
  • शिक्षा मनोविज्ञान का अध्ययन अध्यापक को इसलिए करना चाहिए ताकि —इसकी सहायता से अपने शिक्षण को अधिक प्रभावशाली बना सके
  • “मनोविज्ञान मानव एवं पशु व्यवहार का विज्ञान  है।” किसका कथन है ? –मोर्गन का
  • मनोविज्ञान है- -विधायक विज्ञान
  • शिक्षा मनोविज्ञान का केन्द्र है- बालक
  • शिक्षा का अर्थ उन सर्वमान्य विचारों को विकसित करना है जो प्रत्येक मनुष्य के मस्तिष्क में विलुप्त होती हैं। -सुकरात

Ctet pedagogy notes click here



  • “मनुष्य की अन्तर्निहित पूर्णता को अभिव्यक्त करना शिक्षा है।” -स्वामी विवेकानन्द
  • ‘psyche’ का अर्थ होता है— आत्मा
  • ‘Psychology’ का शाब्दिक अर्थ होता है—आत्मा का ज्ञान
  • मनोविज्ञान की प्रकृति होती है —वैज्ञानिक
  • किसके अनुसार, “मनोविज्ञान चेतना का विज्ञान -जेम्स
  • “विद्या से अमरत्व की प्राप्ति होती है।” कहाँ पर उल्लेख किया गया है ? –यजुर्वेद में
  • “शिक्षा मनोविज्ञान शिक्षण विधियों के चयन मेंशिक्षक की सहायता करता है।” कथन है -स्किनर का
  • शिक्षा की दृष्टि से बालक की महत्वपूर्ण आवश्यकता है —बालकों के साथ मनोवैज्ञानिक व्यवहार की आवश्यकता
  • अनुकूलीय एव सकारात्मक व्यवहार के लिए छात्र में जीवन कौशल आवश्यक है —निर्णय लेने की योग्यता, भावनाओं और तनाव के साथ सामंजस्य
  • शिक्षार्थी जो पहले सीख चुके हैं, उसकी पुनरावृत्ति और प्रत्यास्मरण में शिक्षार्थियों की मदद करना महत्वपूर्ण है— नई जानकारी को पूर्व जानकारी से जोड़ना सीखने को समृद्ध बनाता है
  • “बच्चे के उचित विकास को सुनिश्चित करने के लिए उसका स्वस्थ शारीरिक विकास एक महत्व पूर्ण आवश्यकता है।” यह कथन -सही है, क्योंकि शारीरिक विकास, विकास के अन्य पक्षों के साथ अन्तःसम्बन्धित है
  • एक बच्चा कक्षा में प्रायः प्रश्न पूछता है, उचित रूप से इसका अर्थ है कि -वह अधिक जिज्ञासु है
  • बच्चे की जिज्ञासा शान्त करनी चाहिए –तत्काल जब विद्यार्थी द्वारा जिज्ञासा की गयी है
  • मधु गणित में कमजोर है, एक अच्छे अध्यापक की दृष्टि में उसके गणित में कमजोर होने का कारण हो सकता है -गणित शिक्षण की शिक्षण विधि त्रुटिपूर्ण है
  • विद्यार्थियों को विद्यालय में खेलना उचित है -यह सहयोग एवं शारीरिक सन्तुलन का विकास करेगा
  • एक शिक्षक के लिए सबसे महत्वपूर्ण है। -विद्यार्थियों की कठिनाइयों को दूर करना
  • प्राथमिक स्तर पर मूल्यों की शिक्षा देने की सर्वोत्तम विधि है— अध्यापक के व्यवहार में मूल्य स्थापन

Ctet pedagogy notes click here




  • “विकास की प्रक्रिया पूर्व निश्चित दिशा में आगे बढ़ती है।” यह कथन बाल विकास के…….का. अनुसरण करता है।  -विकास की दिशा का सिद्धान्त
  • बाल विकास का जो सिद्धान्त यह बताता है कि बालकों का विकास उनके………के अनुरूप होता है। -वैयक्तिक अन्तर का सिद्धान्त
  • बालक के व्यक्तित्व के सर्वांगीण विकास के लिए आवश्यक है कि उसके………की जानकारी शिक्षकों को हो।  -व्यवहार
  • एक बालक के व्यक्तित्व के मापन की सर्वाधिक वस्तुनिष्ठ विधि है— -प्रक्षेपीय विधि
  • विद्यार्थियों को दिए जाने वाले परामर्श की सर्वाधिक उपयोगिता यह है कि -उनमें आत्मविश्वास की अभिवृद्धि होती है
  • एक उत्तम कक्षा शिक्षक- -छात्रों को  पारस्परिक संवाद के लिए प्रोत्साहित करता है
  • शिक्षा प्रभावी हो जाती है, यदि -छात्र केन्द्रित अनुदेशन और अन्तःक्रियात्मक विधियों का उपयोग किया जाए
  • एक छात्र को मार्गदर्शन के लिए एक अध्यापक को जानना अत्यावश्यक है -अधिगम की कठिनाई को, उसके व्यक्तित्व को, उसके घर के वातावरण को
  • आपके द्वारा पूछे गए प्रश्न का विद्यार्थी गलत उत्तर देता है, तो आप- -दूसरे विद्यार्थी से प्रश्न पूछेगे जिससे विद्यार्थी स्वयं महसूस करे कि उत्तर गलत था
  • कक्षा का एक शरारती बालक अन्य छात्रों को  परेशान करता है। एक अध्यापक को उसकी समस्या का कारण जानने हेतु किस विधि का प्रयोग करना चाहिए ? —वैयक्तिक अध्ययन विधि
  • एक चिन्तनशील शिक्षक कक्षा-कक्ष में ऐसी परिस्थिति उत्पन्न कर सकता है कि छात्र —छात्रों और शिक्षकों में पारस्परिक को अन्त:क्रिया को प्रोत्साहन मिले

 

click here for pdf



 

 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
error: Content is protected !!