Sunday, 15 December, 2019

Category: Sanskrit


SANSKRIT SAHIYA QUESTIONS FOR UGC NETCTETUPTETSTET

SANSKRIT SAHIYA NOTES FOR NET/CTET/MPTET    सत्कार्यवाद  भारतीय दर्शन में साङ्ख्य के कार्य-कारणवाद अथवा परिणामवाद सिद्धान्त को ‘सत्कार्यवाद’ के नाम से जाना जाता है। सत्कार्यवाद के अनुसार  “प्रत्येक कार्य उत्पत्ति (आविर्भाव) के पूर्व अपने उपादान-कारण में अव्यक्त रूप से उपस्थित Read more…


SANSKRIT CTET PREVIOUS YEAR SOLVE PAPER IN PDF     निर्देश-अधोलिखितं गद्यांश . पठित्वा तदाधारितप्रश्नानां विकल्पात्मकोत्तरेषु समुचितम् उत्तरंत्विा लिखत।   अथ एकदा भगवान् बोधिसत्त्वः बहुजन्मार्जितपुण्यफलैः शिवीनां राजा बभूव। स बाल्यात् एव वृद्धोपसेवी, विनयशीलः शास्त्रपारङ्गतः च आसीत्। जनकल्याणकर्मसुरतः असौ पुत्रवत् प्रजाः Read more…


SANSKRIT PEDAGOGY NOTES FOR CTET

SANSKRIT PEDAGOGY NOTES FOR CTET       भाषा की परिभाषा  डॉ० बाबूराम सक्सेना के अनुसार “जिन ध्वनि-चिह्नों द्वारा मनुष्य परस्पर विचार-विनिमय करता है, उनको समष्टि रूप से ‘भाषा’ कहते हैं।” क्रोचे के अनुसार “भाषा उस स्पष्ट, सीमित तथा सुगठित ध्वनि Read more…


SANSKRIT SAHIYA QUESTIONS FOR UGC NETCTETUPTETSTET

SANSKRIT PRACTICE PAPER FOR CTET-UPTET-SUPER TET-HTET   1. शुद्ध रूप है:  (अ) अनुग्रहितम्  (ब) अनुग्रहतम् (स) अनुगृहीतम्  (द) अनुग्रहण 2. कः + गच्छति = होता है :  (अ) को गच्छति  (ब) कः गच्छति (स) का गच्छति  (द) कर्गच्छति 3. पालिभाषा Read more…


SANSKRIT PEDAGOGY FOR CTETUPTETSUPER TET

SANSKRIT PEDAGOGY NOTES IN PDF FOR CTET/UPTET/SUPER TET मदान एकेडमी   गद्य शिक्षण – गद्य का सर्वप्रथम वर्णन यजुर्वेद में मिलता है। (गद्यात्मकोः यजुः) गद्य की परिभाषा-जो छन्द से रहित विधा हो गद्य कहलाती है। वृतबन्धोज्झितं गद्यम्’ -विश्वनाथ -‘अपाद्यबन्धरचना गद्यम्’- Read more…


SANSKRIT PEDAGOGY FOR CTETUPTETSUPER TET

SANSKRIT PEDAGOGY FOR CTET/UPTET/SUPER TET संस्कृत शब्द की उत्पति – सम् + कृ + क्त  संस्कृत भाषा विश्व की सबसे प्राचिन भाषा है। कौशल चार प्रकार के होते है। स्वाभाविक कम-श्रवप्ले,शुबोपली कौशल दो श्रेणीयों में विभक्त है -1.ग्रहयात्मक-श्रवण, पठन 2.अभिव्यक्तात्मक-वाचन,लेखन  Read more…


30 SANSKRIT QUESTIONS FOR CETE/UPTET/SUPER TET/HTET

SANSKRIT PRACTICE PAPER FOR CTET/UPTET IN PDF   1. ‘वद् + क्त्वा’ रूप बनेगा।  (a) वदित्वा (b) वदत्वा  (c) उदित्वा (d) उद्त्वा   2. ‘सोवा’ शब्द में प्रकृति-प्रत्यय है  (a) सह् + क्त्वा (b) सो + क्त्वा  (c) सोह् + Read more…


SANSKRIT SAHIYA QUESTIONS FOR UGC NETCTETUPTETSTET

48 SANSKRIT QUESTIONS FOR CTET-UPTET-HTET-SUPER TET     1. ज्ञातुम् में प्रकृति प्रत्यय है  (A) ज्ञा + तुमुन्  (B) ज्ञान + तुमुन्  (C) ज्ञा + ल्यप् (D) ज्ञा + अनीयर्   2. ‘मतुप् इति प्रत्ययः भवति अस्मिन् अर्थे  (A) तस्मिन् Read more…


SANSKRIT SAHIYA QUESTIONS FOR UGC NETCTETUPTETSTET

100 SANSKRIT SAHITYA QUESTIONS FOR UGC NET/CTET/UPTET/STET     1. यशोबलम्’ शब्द का सन्धिच्छेद क्या है?उत्तर. यश: + बलम् 2. किसी भाषा के लिखने में प्रयुक्त होने वाले चिह्न क्या कहलाते हैं?उत्तर. लिपि 3. कौन सा संख्या शब्द सदा एकवचन में रहता Read more…


30 SANSKRIT QUESTIONS FOR CETE/UPTET/SUPER TET/HTET

30 SANSKRIT QUESTIONS FOR CETE/UPTET/SUPER TET/HTET   1. ‘भवत्’ शब्द का षष्ठी विभक्ति एकवचन का रूप होगा  (a) भवताम् (b) भवतः  (c) भवन्तौ (d) भवन्तः   2. ‘साधुः लोकं वेदं शास्ति।’ का कर्मवाच्य रूप होगा (a) साधुना लोकं वेदः शिष्यते। (b) साधुना Read more…

Please wait...

Subscribe to our newsletter

Fast Update Please Subscribe Here
error: Content is protected !!